मेले मगरिये, कौनसा मेला कब कहां और क्या खास, देखे कैलेंडर

शेयर करे

पूरे साल में जिस त्योहार और मेलो का सबसे ज्यादा इंतजार रहता है वो अब शुरू हो चुके है। इसके बारे में कहावत भी प्रचलित है – ‘तीज त्योहारा बावड़ी, ले डूबी गणगौर’ इसका अर्थ है तीज से त्योहारों की शुरुआत हो जाती है और गणगौर आते ही समापन हो जाता है। अब तीज से त्योहारों और पर्व की शुरुआत हो चुकी है और इसके लिए रमक झमक आपको ‘ मेला मगरिया व त्योहार ‘ का कैलेंडर तिथि उपलब्ध करवा रहा है। चौमासे में चार महीनें तक कोई भी पर्व नहीं आता इसलिए इस त्योहार का उत्साह और बढ जाता है सब तीजों के साथ ही शुरू होते हैं और गणगौर के साथ समाप्त हो जाते हैं| अब तो ये त्योंहार पूरे भारत ही नहीं जहां-जहां मारवाडी समाज का प्रवास है वहां बडे ही धूमधाम से मनाया जाता है। खासकर बीकानेर और जैसलमेर में होने वाले मेलो के लिए लोग देशभर से यहां पद यात्रा करके आते है।

दो साल बाद इस बार आयोजित होंगे ये मेले

पिछले 2 साल कोरोना के कारण मेले आयोजित नही हुए थे और अब आयोजित होने वाले मेलो के लिए लोगो और बाबे के भक्तो में खासा उत्साह देखने को मिल रहा है। जैसलमेर में रामदेवजी के मेले में लोग देशभर से आते है। लाखों पदयात्रियों के लिए हजारों की संख्या में सेवादार खाने पीने नाश्ते से लेकर दवाई तक हर तरह की सेवा उपलब्ध करवाते है। वहीं बीकानेर में पूनरासर हनुमान जी मेला, सियाणा भैरव जी मेला, कोडमदेसर भैरव जी मेला, तोलियासर भैरव जी मेला, राजासार भैरवजी मेला, सीसा भैरव जी मेला आयोजित होता है। लोक संस्कृति के प्रतीक यह मेले वास्तव में हमारे जीवन की अतरंग झांकी प्रस्तुत करते है।

कई त्योहार भी इसी माह

तीज से लगभग एक महीना त्योहारों और मेलो को समर्पित रहता है। इसी महीने रक्षाबंधन, धमौली, ऊब छठ, स्वतंत्रता दिवस, श्री कृष्ण जन्माष्टमी, गोगा जी नवमी, बछबारस, श्री गणेश चतुर्थी, ऋषि पंचमी, वामन जयंती, वराह जयंती, श्री राधाष्टमी व तेजा दशमी भी इसी महीने आती है।

मेलो व त्योहारों के फोटो वीडियो आप भी रमक झमक के साथ साझा कर सकते है

आप भी रमक झमक के साथ त्योहारों, मेलो, सेवाओं व पदयात्रा के फोटो साझा कर सकते है। हमारी संस्कृति त्योहार और मेले के (उचित) फोटो व वीडियो को रमक झमक के सोशल मीडिया फेसबुक पेज, इंस्टाग्राम, वेबसाइट पर लगाए जायेंगे। दर्शक वो फोटो या वीडियो ही साझा करे जो पहले कहीं सोशल मीडिया पर उपयोग न हुआ हो। रमक झमक के साथ साझा करने के लिए व्हाट्सएप करें Whatsapp – 7597090747

 

शेयर करे

Related posts

Leave a Comment