मेले मगरिये, कौनसा मेला कब कहां और क्या खास, देखे कैलेंडर

शेयर करे

पूरे साल में जिस त्योहार और मेलो का सबसे ज्यादा इंतजार रहता है वो अब शुरू हो चुके है। इसके बारे में कहावत भी प्रचलित है – ‘तीज त्योहारा बावड़ी, ले डूबी गणगौर’ इसका अर्थ है तीज से त्योहारों की शुरुआत हो जाती है और गणगौर आते ही समापन हो जाता है। अब तीज से त्योहारों और पर्व की शुरुआत हो चुकी है और इसके लिए रमक झमक आपको ‘ मेला मगरिया व त्योहार ‘ का कैलेंडर तिथि उपलब्ध करवा रहा है। चौमासे में चार महीनें तक कोई भी पर्व…

शेयर करे
Read More

रमक झमक ने किया जमादार सुनील का सम्मान

शेयर करे

रमक झमक ने किया जमादार सुनील का सम्मान बीकानेर। शहर की साहित्यिक,सामाजिक व सास्कृतिक आयोजन व उत्सव की सफलता में सफाई व स्वच्छता का महत्वपूर्ण योगदान है। रमक झमक संस्था द्वारा इसी क्रम में आज वार्ड नम्बर 58 के जमादार सुनील गुजराती का अभिनन्दन किया। अशोक छंगाणी, महेश आचार्य व रमक झमक अध्यक्ष प्रहलाद ओझा ‘भैरु’ ने ओपरणा,श्रीफल व अभिनन्दन पत्र देकर सम्मानित किया। राधे ओझा ने बताया सुनील दत्त गुजराती ने कोरोना काल व पुष्करणा सावा में भी सफाई व्यवस्था में सक्रिय योगदान दिया।

शेयर करे
Read More

रमक झमक संस्थान द्वारा ‘मारजाओं’ का हुआ सम्मान

शेयर करे

बीकानेर 2 मई। संभागीय आयुक्त व राजस्थानी भाषा अकादमी अध्यक्ष डाॅ. नीरज कुमार पवन ने कहा कि शिक्षक अपने शिष्य को अज्ञान के अंधकार से निकालकर ज्ञान के प्रकाश की ओर ले जाता है। डाॅ. पवन सोमवार को रमक झमक संस्थान की ओर से नगर स्थापना दिवस के उपलक्ष्य में संस्थान परिसर में पुरातन शिक्षा प्रणाली के शिक्षकों ‘मारजाओं’ के अभिनंदन समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। डाॅ. पवन ने कहा कि बीकानेर की पौषवालों में ‘मारजाओं’ द्वारा विद्यार्थियों को बेहतरीन शिक्षा प्रदान की जाती थी।…

शेयर करे
Read More

रमक झमक ने दिया श्रीनाथजी की यात्रा का टिकट

शेयर करे

रमक झमक ने दिया श्रीनाथजी की यात्रा का टिकट ‘सिरै पावणा बींद राजा’ खिताब से नवाजा विष्णु रूप में निकले दुल्हे मंत्री कल्ला ने प्रवासीयों का किया अभिनन्दन बीकानेर। बीकानेर शहर परकोटा आज पूरा शादी का मण्डप बना नजर आया। एक ही दिन में एक ही समय करीब 250 से अधिक जोड़े शादी के बंधन बंधे। पुष्करणा शादी ओलंपिक कर नाम से प्रचलित पुष्करणा सावा’ में पौराणिक गणवेश विष्णु स्वरूप दूल्हे को नंगे पांव खिड़किया पाग पहने विवाह करने निकलते दूल्हों की बारात को देखने व निहारने के लिये शहर…

शेयर करे
Read More

पुष्करणा सावा – आज मंगलवार को भी 12 बजे से 3 बजे तक मिल सकेंगी गड्डियां

शेयर करे

पुष्करणा सावा बीकानेर। पुष्करणा सावा में विवाह करने वाले परिवार को नई गड्डियों का वितरण सोमवार से शुरू हुई सुविधा रमक झमक मंच पर आज भी मंगलवार को जारी रहेगी। बैंक के अरुण आचार्य ने बताया कि अंबेडकर सर्किल एसबीआई शाखा द्वारा इस सुविधा को एक दिन के लिए और बढ़ाया गया है। यह सुविधा दोपहर 12 बजे से 3 बजे तक ही उपलब्ध रहेगी। इसके लिए रमक झमक के प्रहलाद ओझा भैरू ने समय पर पहुंचने की अपील की है जिससे कोई सुविधा से वंचित ना रह जाए। नई…

शेयर करे
Read More

बैंक ने रमक झमक मंच पर 42 लाख रुपयों की गड्डिया बांटी, मंगलवार को भी रहेगी सुविधा

शेयर करे

बीकानेर। पुष्करणा सावा में शादी करने वालो को रमक झमक मंच पर सोमवार को एसबीआई बैंक अम्बेडकर सर्किल ब्रांच द्वारा कैश विनिमय कर नए नोटो की गड्डिया उपलब्ध करवाई गई। बैंक ने आज करीब 42 लाख रुपये की गड्डियां उपलब्ध करवाई। कैश विनिमय काउंटर का उद्घाटन लीड बैंक के मुख्य प्रबंधक एम एम एल पुरोहित, एसबीआई पब्लिक पार्क ब्रांच के मुख्य प्रबंधक अश्वनी कुमार शर्मा ने किया। आज गड्डिया वितरण करने की सेवा एसबीआई अम्बेडकर सर्किल ब्रांच के कैश इंचार्ज अरुण आचार्य के साथ संजय बारासा एवं श्रवण सिंह ने…

शेयर करे
Read More

संस्कृति की संवाहक ‘रमक झमक’ का जिला प्रशासन ने किया सम्मान

शेयर करे

संस्कृति की संवाहक ‘रमक झमक’ का जिला प्रशासन ने किया सम्मान। ओझा ने कहा यह सम्मान सभी परम्परा व संस्कृति प्रेमियों को समर्पित । समाज और संस्कृति का सम्मान है:- राजस्थानी गीतकार शिवराज छंगाणी रमक झमक परिवार सेवा संस्कार और संस्कृति के लिये शहर परकोटे मे लगभग 40 वर्षों से समाज और शहर की पौराणिक संस्कृति व परम्पराओ के सरंक्षण हेतु निरन्तर कार्य कर रही है। विशेष रूप से पुष्करणा सावा जैसी पौराणिक संस्कृति को अक्षुण बनाए रखने के लिये सतत् प्रयासरत रहती है। सावा संस्कृति में युवाओं की रुचि…

शेयर करे
Read More