गौ की धूल, परिक्रमा व जुगाली देगी लाभ – गोपाष्टमी

शेयर करे

गाय और गोपाल:- गोपाष्टमी के दिन बालकृष्ण ने गौओं को चराना शुरू किया, गौ का पालन करने से श्री कृष्ण का नाम गोपाल पड़ा और कार्तिक शुक्ला अष्टमी को गोपाष्टमी कहा जाने लगा और कृष्ण का नाम गोपाल भी पड़ा। प्रत्यक्ष देवी गाय:- गाय सर्वदेवमयी है, इसमें 33 कोटि देवता निवास करते है। इस धरा पर गाय और गंगा प्रत्यक्ष देवी है। गोपाष्टमी पर क्या करें:- गौधूलि बेला पर घर से बाहर पश्चिम की ओर मुख करके दीपक करें। गाय की पूंछ पर मोली बांधे, उसका श्रंगार करें।चारा गुड़ खिलाए।तिलक…

शेयर करे
Read More