पुष्करणा सावा समिति ने रमक झमक संस्था का आभार जताया

शेयर करे

पुष्करणा सावा 2020 को झूठा पौता द्वारा स्थगित किये जाने के निर्णय को ‘रमक झमक संस्थान’ द्वारा सर्वप्रथम सहमति देने के लिये सामूहिक सावा समिति के 9 पदाधिकारियों ने रमक झमक कार्यालय पर उपस्थित होकर समिति की ओर धन्यवाद ज्ञापित किया। समिति के संयोजक बृजेश्वर लाल व्यास ने बताया कि सावा मुहूर्त शोधन व तिथियां तय करने के बाद सावा तक ‘रमक झमक’ ही ऐसी संस्थान है जो वर्षों से हमारी पुरानी परम्पराओ को जीवंत रखने के लिये ‘सावा सेवा व सुविधा’ का लगातार 24 घण्टे शिविर चलाती है। सावा की गरिमा बनाए रखने के लिये लगातार आयोजन करती है और सावा संस्कृति कि पहचान विश्व पटल पर बनाती रही है।

शहर परकोटे के ह्रदय स्थल बारह गुवाड़ चौक में रमक झमक सावा इवेंट में देश भर से लोग शामिल होते है, ऐसे में रमक झमक का सावा स्थगन में समर्थन समिति के लिये महत्वपूर्ण है। व्यास ने कहा कि रमक झमक द्वारा सावा 2020 स्थगन में समर्थन से समिति का उत्साहवर्धन हुआ इसलिये आज सावा समिति के संयोजक बृजेश्वर लाल,श्रीबल्लभ,कानू लाल, काला महाराज, बलभेष, बालकिशन, विष्णु, पवन व गणेश व्यास ने बारह गुवाड़ चौक स्थित रमक झमक संस्थान कार्यालय जाकर उनका धन्यवाद ज्ञापित कर आभार जताया।

इस अवसर पर रमक झमक के अध्यक्ष प्रहलाद ओझा ‘भैरु’ ने कहा कि यह शादी ओलम्पिक सिर्फ बीकानेर का नही है बल्कि देश भर के पुष्करणा समाज का है और अभी देश भर में पुष्करणा सहित समस्त नागरिक कोरोना संकट से जूझ रहे है। देश के अनेकों पुष्करणा परिवार अपने निजी लोगों को खोने से शोक में है। ओझा ने कहा कि सावा ओलम्पिक में देश ही नही विदेश में बसे लोग भी शामिल होते है ऐसे में शहर परकोटे में इतनी भीड़ किसी भी तरह समाज, शहर व देश के हित में नहीं, इसलिये ही रमक झमक ने सोच समझकर ही सावा 2020 स्थगन का समर्थन कर रहा है। इस समय हम सावा स्थगन कर वास्तव में असली समाज सेवा कर रहे है।

शेयर करे

Related posts

Leave a Comment