शिव पुराण के अनुसार जानिए महाशिवरात्रि कथा और महत्व

शेयर करे

महाशिवरात्रि क्यों मनाई जाती है इस दिन क्या हुआ था इसके बारे अलग अलग मत माने जाते है । कई जगह भगवान शिव के विवाह और कई जगह शिव भगवान के प्राकट्य दिवस के रूप में मनाया जाता है।
चेन नाथ जी धुणा शिव मंदिर के योगी विलासनाथ जी ( शिव सत्यनाथ जी महाराज के शिष्य ) ने बताया कि भगवान शिव के मुख्य पुराण ‘ शिव पुराण ‘ में कहीं भी इस दिन भगवान शिव के विवाह का उल्लेख नहीं है, शिव जी के विवाह का पुराण में अलग दिनों में उल्लेख किया गया है।
शिव पुराण में महाशिवरात्रि के बारे में स्पष्ट रूप से बताया गया है कि इस दिन भगवान शिव लिंगाकार से प्रकट हुए थे इस लिंग के आकार का ना कोई आदी था ना कोई अंत । इस बारे में ब्रह्मा विष्णु भी इसका पता नहीं लगा सके थे। इसके बारे में विस्तारित रूप से इस वीडियो में बताया गया है आप वीडियो में जान सकते है महाशिवरात्रि की पूरी कहानी ..

शेयर करे

Related posts

Leave a Comment