शेयर करे

आधुनिक ज्योतिष के उपायों को छोड़ किसी भी काम के लिए ये करें

पिता, नाना व बहन के सम्मान से खराब ग्रह चाल भी हो जाएगी ठीक आधुनिक युग और पाश्चात्य संस्कृति के प्रभाव के चलते लोगों को शार्ट कट की चाहत बढ़ी है। जीवन की भागम भाग में रिश्ते पीछे छूट रहे है और लोग ज्योतिषियों तांत्रिकों से शॉर्टकट उपाय पूछ रहे है। नोकरी, पद, प्रतिष्ठा, शादी व संतान पाने के लिए लोग क्या क्या नहीं कर रहे है। डिप्रेशन से निकलने का रास्ता भी डॉक्टर से लेकर ज्योतिषियों तक को पूछा ...
Read More

अक्षय तृतीया नौकरी, शादी व सन्तान के लिये विशेष

अक्षय तृतीया पर नौकरी, शादी व सन्तान के लिये करें उपाय:- अक्षय तृतीया सर्वश्रेष्ठ, अबूझ व शुद्ध मुहूर्त है इस दिन किया कार्य अक्षय फल देने वाला देने वाला होता है। जीवन की आपाधापी और भगाम भाग के इस दौर में हर कोई चाहता है कि वो कम समय मे ऐसा क्या करें जिससे उसकी कामना पूर्ण हो। साल में ऐसे बहुत कम योग बनते है जब कम समय ही कुछ उपाय करने से शीघ्र फल प्राप्त हो सकते है। ...
Read More

अटके और बिगड़े काम बनाए हनुमान जी को इस तरह मनाए

हनुमानजी को क्या चढ़ाए जिससे रुके काम बने। अगर आपकी कुंडली मे मंगल या शनि अशुभ फल देने वाले है या उनकी दशा चल रही है जो अच्छी नहीं है,मंगल के कारण या भाइयो से अनबन है,कर्ज अधिक हो गया है या मंगल या शनि से मांगलिक दोष कुंडली मे बताया गया है,शनि या मंगल के कारण काम मे रुकावट आ रही है,आप मांगलिक है और विवाह में बाधा आ रही है या विवाह बाद भी मांगलिक की वजह से ...
Read More

हनुमान जी के चरित्र से सीखे सफल भविष्य और हर समस्या का समाधान

हनुमानजी से सीखे सफल कैरियर के गुण (हनुमान जयन्ति विशेष) (रमक झमक) हनुमान जी का किरदार लोगों को बहुत कुछ सीखाता है, हर रूप में लोगों के लिए प्रेरणादायक है। हनुमान जी के बारे में तुलसीदास लिखते हैं, ‘संकट कटे मिटे सब पीरा,जो सुमिरै हनुमत बल बीरा’। यानी हनुमान जी में हर तरह के कष्ट (समस्या)को दूर करने की क्षमता है। आज हम आपको बता रहे हैं हनुमान जी के कुछ खास गुण, इन्हें अपनाकर अपनी परेशानियां दूर कर सकते ...
Read More

बारहमास गणगौर व्रत की सम्पूर्ण विधि व इसके फल

बारहमास गणगौर व्रत व सम्पूर्ण विधि, क्या फल मिलता है इसको करने से जानिए बारहमासी गणगौर के संबंध में :- यह व्रत चैत्र सुदी रामनवमी के दिन शुरू होता है। यह सुहागन औरतें ही करती है। अखंड सुहाग,मंगल कामना,वंश वृद्धि, सद्बुद्धि व मोक्ष के लिए व्रत किया जाता है। एक कहानी के अनुसार इस व्रत को सर्वप्रथम राजा युधिष्ठिर व द्रोपदी ने भगवान कृष्ण से आज्ञा प्राप्त करके किया। जिससे मोक्ष प्राप्त हुआ। रामनवमी से एकादशी तक यह किया जाता ...
Read More
Loading...
शेयर करे
Facebook Page
Facebook By Weblizar Powered By Weblizar

Copyright © 2015. All Rights Reserved.