धर्म

गोपाष्टमी पर्व क्यों मनाया जाता है कैसे करे गौ पूजन

गोपाष्टमी पर्व गौ उत्सव के रूप में मनाया जाता है। भारतीय संस्कृति में गाय के लिए सर्वप्रथम रोटी निकालना, गुड़ देना व पूजा करना शामिल है। लेकिन किसी उत्सव के लिए एक विशेष दिन होता है और गायों के लिए विशेष दिन गोपाष्टमी माना जाता है। जिसे स्वयं भगवान श्री कृष्ण ने पूजा हो वो मनुष्यों के लिए पूजनीय तो वैसे भी हो जाती है। जिसे हम ईश्वर मानते है वही ईश्वर अगर किसी को पूजे तो वो हमारे लिए ...
Read More

तुलसी माता का व्रत कैसे करें, अखंड दीपक मुहूर्त व उद्धापन की जानकारी

आंवला नवमी से शुरू होने वाला 3 दिनों का तुलसी माता व्रत समस्त पापो को नष्ट करके विष्णुलोक की प्राप्ति कराने वाला है। इस व्रत को करने से सारे पाप खत्म हो जाते है। एक बार धर्मराज युधिष्ठिर के पूछने पर भगवान श्रीकृष्ण ने बताया कि सतयुग में मुनि वशिष्ठ के निर्देश के अनुसार सर्वप्रथम इस व्रत को अरूंधत्ति ने किया था। इसी प्रकार देवलोक में ब्रह्मा जी के कहने पर सावित्री और इंद्राणी द्वारा इस व्रत को किया गया ...
Read More

गौ की धूल, परिक्रमा व जुगाली देगी लाभ – गोपाष्टमी

गाय और गोपाल:- गोपाष्टमी के दिन बालकृष्ण ने गौओं को चराना शुरू किया, गौ का पालन करने से श्री कृष्ण का नाम गोपाल पड़ा और कार्तिक शुक्ला अष्टमी को गोपाष्टमी कहा जाने लगा और कृष्ण का नाम गोपाल भी पड़ा। प्रत्यक्ष देवी गाय:- गाय सर्वदेवमयी है, इसमें 33 कोटि देवता निवास करते है। इस धरा पर गाय और गंगा प्रत्यक्ष देवी है। गोपाष्टमी पर क्या करें:- गौधूलि बेला पर घर से बाहर पश्चिम की ओर मुख करके दीपक करें। गाय ...
Read More

बहन द्वारा भाई को तिलक कैसे करना चाहिए, जानिए भाई दूज की कथा व शुभ मुहूर्त

आमतौर पर भारतीय परंपरा मे बहन बेटियों के घर नहीं जाया जाता है। घर की बेटियों के बहनों के यहां भोजन नही किया जाता है बल्कि सुहासिनी को हमेशा कुछ दिया ही जाता है लिया नही जाता। हालांकि आधुनिक दौर में समय और परिस्थितियों को देखते हुए कई बार दूरी अधिक होने पर ऐसा करने में अनुचित नही समझा जाता ऐसी परिस्थितियां होने पर भी भेंट स्वरूप सुहासिनी के घर दिया ही जाता है। लेकिन क्या आप जानते है साल ...
Read More

ये ध्यान रखने से लक्ष्मी जी जरूर आएगी आपके घर

यूँ तो हर पल नया है आने वाला हर दिन नया है लेकिन आप जानते होंगे हमें हमेशा से त्योहार के दिनों में यही कहा जाता है कि ये नये दिन है। नये दिन का अर्थ क्या है वास्तव में दीपावली से एक तरह की नये जीवन की शुरुआत होती है। दीवाली से कई दिन पहले ही साफ सफाई, रंगाई-पोताई शुरू हो जाती है। घर की हर छोटी से छोटी चीज को भी साफ करके रखा जाता है। सभी गैरजरूरी ...
Read More

नरक चतुर्दशी क्या है इस दिन किसकी पूजा का है महत्व जानिए सम्पूर्ण कथाएं

सतयुग से शुरुआत होकर त्रेता, द्वापर में कई ऐसी बड़ी घटनाएं हुई है जिसे विशेष माना जाता है। एक ही विशेष दिन कई ऐसे पर्व, आयोजन, घटनाएं आदि हुई है। इसे इस तरह से समझा जा सकता है जैसे परिवार की अलग अलग पीढ़ियों के सदस्यों का जन्मदिन एक ही तिथि को पड़ता हो तो कई बार दादा और पोते के जन्मदिन को एक ही दिन मनाया जाता है। क्योकि वे अपने अपने समय मे उसी तिथि के दिन पैदा ...
Read More

दीपावली पर लक्ष्मी पूजन व दीपमाला का श्रेष्ठ मुहूर्त

इस वर्ष महालक्ष्मी पूजन व दीपोत्सव 14 नवम्बर को होने जा रहा है। इस दिन चन्द्रमा स्वाति व विशाखा नक्षत्र में गोचर करते हुवे तुला राशि में रहेंगे। भारत के प्रमुख शहरों के अनुसार दीपावली पूजन का शुभ मुहूर्त इस प्रकार रहेगा। बीकानेर कुम्भ लग्न दो.1:17 से 2:45 , वृषभ लग्न सा. 5:49 से 7:44 , सिंह लग्न रा. 12:13 से 2:32 चौघड़िया अनुसार शुभ समय लाभअमृत दो. 1:42 से 4:23, लाभ सा. 5:44 से 7:23 , शुभअमृत रा. 9:3 ...
Read More

धनतेरस क्यों मनाई जाती है क्या है महत्व जानिए

पाँच दिनों का महापर्व दीपावली अपने आप मे एक संपूर्ण त्योहार है। धनतेरस से शुरू होकर भाई दूज तक चलने वाले इस उत्सव के हर दिन की एक अलग विशेषता है। हमारी संस्कृति में हर उत्सव हर त्योहार का एक विशेष प्रयोजन होता है। पांच दिन के दीपावली पर्व को एकीकृत रूप में देखा जाता है इसके हर एक दिन की अलग और विशेष महत्ता है। इन पांच दिनों के पर्व की शुरुआत धनतेरस से होती है। धनतेरस का पर्व ...
Read More

करवो ले बाई करवो ले भाइयो री बहना करवो ले- करवा चौथ की कथा, महत्व व पूरी जानकारी

सुहागिन महिलाओं का सबसे बड़ा व्रत करवा चौथ आ रहा है। इस व्रत को लेकर महिलाएं बेहद उत्साहित रहती है। नए कपड़े खरीदने से लेकर व्रत के लिए उपयोग में आने वाले चलनी/छलनी तक की सजावट करती है। करवा चौथ का व्रत मुख्यतः उत्तर भारत के राज्यों में प्रचलित था लेकिन अब टीवी में धारावाहिकों और फिल्मों के माध्यम से यह पूरे देश में प्रसिद्ध हो गया। आज लगभग पूरे भारत मे ही करवा चौथ के व्रत को बड़े ही ...
Read More

शरद पूर्णिमा पर खीर खाने से दूर होते है रोग, जानिए वैज्ञानिक कारण

पूरे सालभर की पूर्णिमा में सबसे खास महत्व आश्विन मास में आने वाली शरद पूर्णिमा का होता है।  सनातन संस्कृति में इस दिन व्रत रखना और खीर बनाने की विशेष मान्यताएं है। इस दिन जब शाम को चंद्रमा का उदय होता है तो यह अपनी पूर्ण रोशनी के साथ पूरे 16 कलाओं से भी परिपूर्ण होता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस शरद पूर्णिमा की रात्रि को चंद्रमा अपनी रोशनी से अमृत बरसाता है। इस रात्रि को खीर बनाकर चन्द्रमा ...
Read More