शादी ओलंपिक

105 लोगों को एसबीबीजे ने दी नोटों की नई गड्डियां

105 लोगों को एसबीबीजे ने दी नोटों की नई गड्डियां
बीकानेर। पुष्करणा सावा के तहत बारहगुवाड़-नत्थूसर गेट रोड़ पर रमक झमक के कार्यालय में शादी करने वाले वधू परिवार को मरुप्रदेश की अग्रणी बैंक स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एण्ड जयपुर (एसबीबीजे) की ओर से नई गड्डियां प्रदान की गयीं। रमक झमक के अध्यक्ष प्रहलाद ओझा ‘भैरु’ ने बताया कि एसबीबीजे की अम्बेडकर शाखा की ओर से प्रबन्धक एस.एन.जोशी सहित हैड कैशियर मौजूद थे। उन्होंने बताया कि विवाह वाले 105 व्यक्तियों को मुद्रा विनिमय नई गड्डियां प्रदान कीं। राधे ओझा ने बताया कि इन नई गड्डियों में 10, 20, 50 व 100 रुपए की गड्डियां शामिल थीं।


img-20170127-wa0005

पुष्करणा सावे में शादी करने वालो की प्रथम सूचि जारी

पुष्करणा सावे में शादी करने वालो की प्रथम सूचि जारीrmk1rmkjhmk22

विवाह के विस्तृत गीत

विवाह के  पौराणिक गीत
गणेशजी-
म्हारा प्यारा रे गजानंद आयजो-2
थोरे संग में रिद्धि-सिद्धि लाइजो जी ।।म्हारा।।
गजानंद थे आयजो,रिद्धि-सिद्धि लाइजो,
थोरे संग में अन्न-धन्न लाइजो जी ।।म्हारा ।।
गजानन्द सोनो थे भल लाइजो,
बनडी रे हार घडायजो जी ।।म्हारा।।
विरध विनायक-
चालों विनायक आपों जोशीजी रे हालों
चोखा सा लगन लिखावों ए, म्हारा विरध विनायक ।।
सूंड सुंडालो बाबो,धुंध धुंधलो ।
ओछी पींडि रो कोमण गारो ए,म्हारा विरध विनायक ।।
चालों विनायक आपों सोनीजी रे हालों ।
चोखा सा गहना घडावों ए,
म्हारा विरध विनायक ।।
चालो विनायक आपों तम्बोलीजी रे हालों
बनडी रा होठ रचावों ए, म्हारा विरध विनायक।।
(ऐसे ही कंदोई-मिठाई,झवरजी- मोती हार आदि)
गणेशजी-
ध्यावो रे गणपत ने रे कारज सिद्ध करे।
हरे हो बनजी ध्योवो रे देवी ने स्याय करे ।
हरे सोनो लंका देश रो बनड़ी रे हार घड़ाय
अरे मोती समन्दा पार रा बनड़ी रे हार पोवाय ।
रूपो उज्जवल देश रो बनड़ी रे पायल घड़ाय
बनाजी …….ध्यावो रे
गणेश जी
गणपत देवा करुं थोड़ी सेवा, सेवा में सब रंग लाय । अब मत देर करो ।।
बन्ना सोनीजी रे जाना, गहना घड़ाना, बनडी रै हार घड़ाय । अब मत देर करो ।।
(ऐसे ही कंदोई-लाडू, तंबोली-पान बिड़ला)
सुहाग-
सुहाग मांगण चाली आपरे दादी जी रे पास ।
दादो जी दोनी सुहाग,भुवाजी दोनी सुहाग ।।
बालीं भोली रो सुहाग,अकन कुँवारी रो सुहाग
बाई–रो सुहाग,काजल टिकी में घुल रहियो।
छल्ला बींटी में घुल रहियो,मेंण मजीठ में घुल रहियो ।
ए माँ मैं क्या जानूं कामण ऐसा घुल रहियो ।……….
बन्नो-
बन्नो म्हरो श्याम सुंदर अवतार,किन्ने री डोर हिलावै ए ।।
बन्नो म्हरो रामचन्द्र अवतार,सीता संग ब्यावं रचावे ए ।
बन्नों म्हारो होली रो खेतार, होली रो चंग बजावै ए ।।
बन्नों म्हरो मोती लावै ए, बनड़ी रे हार पोवा ए।
बन्नों म्हरो चुड़लो लावै ए, बनड़ी रे बॉय पैरावे ए।।
बन्नों म्हारो रूपो लावे ए, बनड़ी रे पायल घड़ावे ए ।।
बन्नों म्हारा बनड़ी लावे ए, माजीसा रा पांव चपावे ए ।।
बन्नी-
ओट्टे जाईज्यो कोटे जाईज्यो,जायज्यो समन्दों पार
समन्दों रा मोती लाइजो लायज्यो चार ।
सरदार बन्ना,उमराव बना
मुखड़े रो मांडण गोरो रे नथ सोवे राज ।।
चलो ओ नणद बाई,नथ जोवण चल,
नथनी जोवाई थोनें लाडू देसों चार ।।
सर………….।।
घोड़ी-
घोड़ी नाचे राज कुदे ठमके पांव धरे ।।
बन्नो भर-भर मुठडी आ हीरो री अंगूठी ओ राज
रोक रुपैया निच्छरावल करै । घोड़ी नाचे राज कूदे ठमके ……।।
राईवर थोड़ा हो बाबाजी,राईवर थोरा हो नानाजी ।
घोड़ी रा जतन करे,तेज न नाचे राज ।।
राईवर थोरा हो…….
(इसतरह नानोजी,दादोजी,नानीजी…)

युवाओं ने भरें कुरीतियां मिटाने के संकल्प पत्र

युवाओं ने भरें कुरीतियां मिटाने के संकल्प पत्र
पुष्करणा सावा में एक ही दिन में सेकड़ो शादियां होनी है इसी को ध्यान में रखते हुए रमक झमक द्वारा युवाओं व बड़ो से भी विवाह में कम खर्च करने व कुरीतियां कम करने का संकल्प दिलाया गया। युवाओं ने स्वयं के विवाह में पेचा, ओढा, मिलनी आदि की अतिवादिता को कम करने का संकल्प लिया। यह संकल्प पत्र बारह गुवाड़ चौक में पुजारी बाबा के सानिध्य में भरवाया गए। पुजारी बाबा ने कहा कि युवा इस संकल्प को ले कि वे स्वयं के विवाह में कुरीतियां ना लेने के साथ भी यह भी प्रयास करेंगे की वे अपने परिवार में भी होने वाले विवाह में परम्पराओं को ध्यान में रखते हुवे जो रीतियां आज कुरीतियों का रूप ले रही है उनको कम करने का प्रयास करेंगे। कुरीतियों को कम करने का यह अभियान रमक झमक द्वारा पिछले कई दिनों से जारी है जिसमे सावा में विवाह करने वाले हर परिवार तक यह सन्देश पहुँचाया जा रहा है। उपमहापौर अशोक आचार्य ने भी यह संकल्प पत्र भरा और यह कहा कि असल में युवा ही इस सावा को असल में सफल बना सकते है और समाज से कुरीतियों को दूर करना ही हमारा संकल्प होना चाहिए। रमक झमक के अध्यक्ष प्रह्लाद ओझा ‘भैरुँ’ ने कहा कि इस संकल्प पत्र में 100 से ज्यादा युवाओं ने हस्तक्षर किये व अपने व अपने परिवार में इस संकल्प को दिलाने की बात कही। इस अवसर पर पूर्व पार्षद दुर्गादास छंगाणी, पूर्व पार्षद श्रीलाल जोशी, ईश्वर महाराज, सीताराम छंगाणी, बलदेव ओझा, अर्जुन जोशी, भेरु ओझा, आनंद मस्ताना, मनु महाराज, गिरिराज व्यास, एडवोकेट गोपाल पुरोहित, धनराज रंगा, दिलीप रंगा, किराडू बी दास, नंदू , महेश छंगाणी सहित अन्य लोग इसके साक्षी बने। राधे ओझा ने बताया कि कल भी संकल्प पत्र भरवाये जायेंगे।
dsc_0546-desktop-resolutiondsc_0581-desktop-resolution
Like On Facebook
Facebook By Weblizar Powered By Weblizar

Copyright © 2015. All Rights Reserved.