करें आसमाता के दर्शन

शेयर करे

आशमाता से किसी भी आश यानि कामना के लिये पूजा कर सकते है,सामान्यतः बेटे की माँ पूजा करती है कामना करती है लेकिन रमक झमक का मानना है कि आश यानि, कामना, इच्छा कोई भी उसके लिये आज आशमाता के सामने बैठकर उनको कुंकु के छीटे चरणों मे देवें व अपनी आस यानि कामना प्रार्थना रखे । नॉकरी,संतान व अपना निज मकान आदि की भी आश होती है आप माता से वो आश करें कामना करें और जब आपका काम आगामी आशपूजा तक हो जाए तो विशेष पूजा व धन्यवाद जरूर करें ।

शेयर करे

Related posts

Leave a Comment