Home

शेयर करे

नई अपडेट

  • क्यों बीकानेर में गवर को दौड़ाकर ले जाया जाता है
    क्यों बीकानेर में गवर को दौड़ाकर ले जाया जाता है
    भादाणी जाति की गवर
  • गणगौर उत्सव में क्यों दिया जाता है दातनिया
    गणगौर उत्सव में क्यों दिया जाता है दातनिया
    राजस्थान में घुड़ला घुमाने की परम्परा कैसे शुरू हुई जानिये
  • DEVI KUND SAGAR BIKANER
    DEVI KUND SAGAR BIKANER
    SATI MATA KI CHHATRI
  • Kaan Ganesh ji Temple
    Kaan Ganesh ji Temple
    Kaan Ganesh ji Temple
  • बीकानेर की धूणा संस्कृति
    बीकानेर की धूणा संस्कृति
    क्लिक करें
  • जानिये बीकानेर को धर्मनगरी छोटीकाशी क्यों कहते है
    जानिये बीकानेर को धर्मनगरी छोटीकाशी क्यों कहते है
    Click
  • चमत्कारी भैरव के चमत्कार देखिए
    चमत्कारी भैरव के चमत्कार देखिए
    मंदिर का इतिहास पूरी डिटेल में
  • जानिये  बीकानेर के बारे में क्लिक कीजिये
    जानिये बीकानेर के बारे में क्लिक कीजिये
    बीकानेर देश और दुनिया से कैसे अलग है क्लिक कीजिये
  • एक ताने से बसा पूरा शहर Bikaner Specialties
    एक ताने से बसा पूरा शहर Bikaner Specialties
    एक ताने से बसा पूरा शहर Bikaner Specialties

वीडियो

Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
Play
previous arrow
next arrow
previous arrownext arrow
Slider

 

पुरे शहर में में हो गई है रमक झमक, देखे कुछ सावा २०१३ की झलकिया

३१ जनवरी को होने वाले पुष्करणा ब्राह्मण समाज सावे की रमक झमक अब पुरे शहर में देखी जा सकती है । शहर में हर जगह कही औरतें गीत गाती हुई निकलती दिखती है तो कहीं लोग खोला परम्परा से मुह रंग करवाकर आते हुए बटुको का तो जैसे शहर में जमावड़ा सा हो गया है कहीं तो एक एक  घर में चार पांच बटुको की जनेउ डाली जा रही है । पान की दुकानों पर रोज से ज्यादा भीड़ दिखनी ...
Read More

यज्ञोपवित सामग्री वितरण शुरू

पुष्करणा युवा शक्ति मंच रमक झमक द्वारा बारह गुवाड चौक मे यज्ञोपवित बटुके के लिए उपयोग मे आने वाली सामग्र्री पाटी, गोटा, गेडिया, खडाऊ का वितरण आज शुरू कर दिया गया ।  मंच के अध्यक्ष प्रहलाद ओझा भैंरू ने बताया की यज्ञोपवित सामग्र्री प्रतिदिन शाम ४ से ८ बजे के बीच प्राप्त कर सकेंगे ।  ओझा ने बताया की सावा मे पेचा, ओढना, मिलनी व सोग पलटवानी  की  परंपरा जो अब बढ चुकी हैं जिसको कम करने के लिए युवाओं ...
Read More

जानिये क्यों होती है गणेश परिक्रमा (छींकी)

पुष्करणा ब्राह्मण समाज में विवाह से एक दिन पूर्व अथवा विवाह के ठीक पूर्व गणेश परिक्रमा जिसे स्थानीय भाषा में छींकी कहा जाता है की रस्म निभाई जाती है । छींकी में वर और वधु अपने अपने ससुराल किसी वाहन में बैठ कर जाते है, आगे आगे सर्वप्रथम पंडित कांसी की थाली में जिसमे भगवन गणपति विराजमान होते है और आटा व हल्दी से बना चहुमुखी दीपक गाय के घी से प्रज्वलित रहता है, को लेकर ॐ ना सु शि शा बोलते ...
Read More

कम्प्युटर और मोबाइल पर लाईव दिखेंगी बारातें, पुष्करणा युवा शक्ति मंच रमक झमक ने की अनूठी पहल

पुष्करणा ब्राह्मण समाज के ऑलपिक सावे के दौरान ३१ जनवरी को बारह गुवाड से होकर गुजरने वाली बारातों को कम्प्युटर और एन्ड्रोयड मोबाईल पर ऑनलाइन देखा जा सकेगा । यह सब संभव हो पायेगा पुष्करणा युवा शक्ति मंच द्वारा तैयार की गई वेबसाइट रमक झमक डॉट कोम के माध्यम से । वेबसाईट के संचालक राधेकृष्ण ओझा ने बताया की इस वेबसाइट के  माध्यम से विवाह के विविध पौराणिक महत्वों, उनकी आवश्यकताओं और आज के दौर में उनकी  प्रासंगिकता  के बारे ...
Read More

पंडितो ने लग्न भरने की सेवा की सेवा शुरू

पुष्करणा युवा शक्ति मंच रमक  झमक ने बारह गुवाड चौक मे चल रहे सावा सेवा सुविधा शिविर मे आज पंडित भागीरथ देराश्री, मुकेश छंगाणी, आशीष ओझा, भैंरूरतन व मुरारी आदि ने लग्न पत्रिका  भरने वितरित करने की सेवाऐं दी ।  इससे पूर्व स्वस्तीवाचन व मंगलाचरण पूजन किया गया ।  मंच के अध्यक्ष प्रहलाद ओझा भैंरू ने बताया की प्रतिदिन ५ से  ७ बजे लग्न पत्रिका भरने व वितरित करने का कार्य जारी रहेगा ।  ओझा ने बताया कि यज्ञोपवित बटुको ...
Read More

 

 

 

शेयर करे
Facebook Page
Facebook By Weblizar Powered By Weblizar

Copyright © 2015. All Rights Reserved.