बीकानेर में होलिका दहन और माला घोलाई का मुहूर्त कितने बजे है जानिए

बीकानेर में होलिका दहन और माला घोलाई का मुहूर्त कितने बजे है जानिए

होलिका दहन
20 मार्च 2019 को होली के दिन मृत्युलोक की भद्रा शाम 8:59 तक है इसलिये होलिका दहन पूरेभारत मे करीब करीब इस समय के बाद ही होगा 8:59 के बाद होगा । सामान्यतः बीकानेर शहर में होलिका दहन 9:15 से 11 बजे तक सभी जगह हो जाएगा । (रमक झमक)
माला घोलाई मुहूर्त:
होली के दिन बहने गोबर के बने ओपले जिन्हें स्थानीय भाषा में भरभोलिया कहा जाता है इन चार भरभोलियो को मूँझ में पिरोकर माला बनाती है और भाई के सिर ऊपर से उवारती यानी घूमाती है जिन्हें माला घोलाई कहते है ,माला घोलाई के ये भरभोलिए होलिका दहन के समय उसमें डाल दिये जाते है ।(रमक झमक) इसके पीछे भाई की नजर उतारना या उसके ऊपर कोई बला परेशानी हो तो वो होलिका के साथ जलकर भस्म हो जाए ये भाव है ऐसा रमक झमक का मानना है ।आजकल पुष्पमाला पहनाने की परम्परा चल पड़ी है वो उचित नहीं क्योंकि पुष्प कभी जलाने नहीं चाहिये । माला घोलाई भी शुभ मुहूर्त में होती है लेकिन सुबह करीब 10:30 बजे के बाद भद्रा लग आ जायेगी और 8:59 तक चलेगी । सुबह चवदस रहेगी उस समय माला घोलाई नहीं होगी ।इसलिये ऐसी परिस्थिति में जब भद्रा दिन भर हो और कार्य आवश्यक हो तो दिन के मध्याह्न बाद श्रेष्ठ बताया गया है इसलिये दिन के 12:30 बजे के बाद 1:37 से 3:59 बहन अपने भाई के माला घोलाई कर सकेगी ।(रमक झमक)

(जानकारी सोर्स- प.पुजारी बाबा व प.राजेन्द्र किराडू)

बीकानेर होली से जुड़े वीडियो देखने के लिए हमारे फेसबुक पेज को लाइक जरुर करें।
Www.facebook.com/ramakjhamak

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook Page
Facebook By Weblizar Powered By Weblizar

Copyright © 2015. All Rights Reserved.